सिंचाई विभाग

जिला जींद में सिंचाई और बाढ़ के काम का कार्य करने वाले 5 कार्यकारी अभियंता हैं। चार तहसील हैं जिनमें जींद , सफीदो , नरवाना और जुलाना हैं। जींद और सफीदों तहसील अधीक्षक अभियंता के प्रशासनिक नियंत्रण के तहत यमुना नहर के अधीन आते हैं।

डब्लू० एस सर्कल जींद और नरवाना तहसील अधीक्षक अभियंता / बीडब्ल्यूएस कैथल के प्रशासनिक नियंत्रण के तहत भाखड़ा प्रणाली के अंतर्गत आता है।

डब्लू० एस में सर्कल, जींद , दो नोज डिवीजन हैं, जींद जल सेवा विभाग , जींद कार्यकारी अभियंता के प्रभारी हैं और इस डिवीजन के तहत 3 नंबर उप डिवीजन हैं, जींद / जुलाना / पिल्लुखेड़ा । इस डिवीजन के तहत 67.77 किलोमीटर और 40 की लंबाई वाली 13 नाली हैं। लंबाई वाले नहरों में 64343 हेक्टर हैं। इनमें से नहर का पानी 38463 हेक्टर तक प्रदान किया गया था।

सफीदों डब्लू० एस डिवीजन

इस डिवीज़न में 3 उप-विभाजन हैं, जैसे अनटा, सफीदो और रोजला। यह विभाजन 9 9 नालियों की देखभाल करता है जिसमें लंबाई 12 किमी की लंबाई वाले 90 किमी और 14 नहरों की होती है। सिंचाई के तहत कुल क्षेत्र 32266 हेक्टेयर है जो खरीफ में आपूर्ति की गई कुल नहर के पानी 14420 हेक्टीट और 12437 हेक्टर है।

नरवाना बीडब्ल्यूएस डिवीजन, नरवाना

इस विभाग में 3 उप विभाजन अर्थात नारवाना, सुदक्कन, धमतान उप-विभाजन हैं। इस डिवीजन में 49 किमी की लंबाई 50 कि.मी. और 17 की नालियों के साथ 75 किलोमीटर की लंबाई है। सिंचाई में कुल क्षेत्र 100069 हेक्टर है इनमें से कुल क्षेत्रफल सिंचित 82783 हेक्टेयर है।

जींद जल सेवाए विभाग , जींद

यह विभाग बाढ़ के ऑपरेशन के लिए पंपों के रखरखाव और मरम्मत के काम को देखता है। इस विभाजन में जींद में एक एसडीओ है। 57 पंप के साथ 22 पम्प हाउस साइट हैं जिनमें 47 9 सीएस की क्षमता है। इसके अलावा, 1 9 सीएस की क्षमता वाली 138 सीएस और 72 इलेक्ट्रिक पंपों की क्षमता वाले 69 डीजल पम्पिंग सेट हैं। रखरखाव और समाधान इस विभाजन की जिम्मेदारी है।

निर्माण विभाग सं 26, जींद

निर्माण विभाग अधीक्षक अभियंता के प्रशासनिक नियंत्रण में है। इस विभाग में 1 एसडीओ हैं। वे मुख्य रूप से विश्व बैंक परियोजना के तहत नहरों के निर्माण और पुनर्वास के काम पर ध्यान देते हैं।